Skip to Content

Permanent Way Supervisors category merged with JE/P Way

Printer-friendly version
Circular Info
Railway Board Letter No: 
PC-III/2012/FE-II/2 dated 03-07-2013
Date: 
03/07/2013
RBE No: 
64/2013
Circular Subject: 
Merger of Sr. P. Way Supervisors with JE/P.Way

The issue of merger of Senior Permanent Way Supervisors (PB-2, Grade Pay Rs. 4200) with Junior Engineer (P. Way) had been raised in the PNM by both the Federations (AIRF/NFIR). Accordingly, with a view to strengthening and rationalizing the staffing pattern on Railways, the issue of enbloc merger of Sr. Permanent Way Supervisors in PB-2, Grade Pay Rs. 4200 with Junior Engineer /P. Way (PB-2, Grade Pay Rs. 4200) was under examination in Ministry of Railways. As a result of the review undertaken on the basis of functional, operational and administrative requirements, it has been decided that all the regular posts (excluding surplus, supernumerary and ex-cadre posts) of Sr. Permanent Way Supervisors in PB-2, Grade Pay Rs. 4200 should enbloc be merged with the cadre of Junior Engineer (P. Way) with its spread effect in higher grade PB-2, Grade Pay Rs. 4600.

2.        The entire exercise of merger of Senior Permanent Way Supervisors with JE/P. Way with its spread effect to the post of SSE (P. Way) would be self-financing and expenditure neutral proposition. Additional financial implications should be worked out taking into account the revised basic pay including Grade Pay as per 6th CPC as listed in the fitment table, corresponding to the mid-point of the pre-revised pay scale (5th CPC) in respect of the each post, along with the applicable Dearness Allowance.  After working out the financial implications, the matching savings should be effected from the category itself. Wherever it is not possible to do so from the category itself, the matching savings should be arranged from the department at the Divisional/Zonal level. While effecting surrender of posts of equivalent financial value, the existing vacant posts available in the category on the cut-off date should be considered for the purpose of off-setting the cost of merger of Sr. P. Way Supervisors with JE/P.Way and its spread effect to the post of SSE (P. Way). There would be no merger of Sr. P. Way Supervisors with JE/P.Way with its spread effect to the post of SSE (P. Way) without matching savings by surrender of posts.

3.        These orders are effective from the date of issue of these orders.

4.        This issues in consultation with the Civil Engineering & Establishment Directorates and with concurrence of the Finance Directorate of this Ministry.

5.        The receipt of this letter may please be acknowledged.

(sd/-)

(Hari Krishnan)

Director, Pay Commission-II

Railway Board

No. PC-III/2012/FE-II/2                                                                New Delhi, Dated 03-07-2013

 

 

 

भारत सरकार

 रेल मंत्रालय (रेलवे बोर्ड)

आर.बी.ई.सं. 64/2013

सं. पि सी-III/2012/एफ ई-II/2                                             नई दिल्ली, दिनांक 03-07-2013

महाप्रबंधक एवं मुख्य प्रशासनिक अधिकारी,

सभी भारतीय रेलें / उत्पादन इकाईयां आदि I

(डाक सूचि के अनुसार)               

विषय: वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों का जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ के साथ मर्जर I

     वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों (पि बी-2 ग्रेड पे 4200 रूपए) के जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ के साथ मर्जर के मुधे को दोनों फेडरेशनों ने पीएनएम में उठाया था I तदनुसार रेलों पर स्टाफ व्यवस्था के पैटर्न को सुद्दद करने और उसे युक्तिसंगत बनाने की दृष्टि से रेल मंत्रालय द्वारा वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों (पि बी-2 ग्रेड पे 4200 रूपए) को सामूहिक रूप से जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ (पि बी-2 ग्रेड पे 4200 रूपए) के साथ मर्ज करने के मुधे की जांज की गई I कार्यात्मक, परिचालनिक तथा प्रशासनिक ज़रूरतों के आधार पर की गई समीक्षा के परिणामस्वरूप यह विनिश्चय किया गया की पि बी-2 ग्रेड पे 4600 रूपए के उच्चतर ग्रेड में विस्तारित प्रभाव सहित पि बी-2 ग्रेड पे 4200 रूपए में वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षक  की सभी नियमित पदों (सरप्लस, अतिरिक्त और संवर्ग बाह्य पदों को छोड़कर) को सामूहिक रूप से जूनियर इंजीनियर (रेलपथ) के संवर्ग में मर्ज कर दिया जाये I

2. एस एस ई (रेलपथ) के पद के लिए विस्तारित प्रभाव के साथ वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों का जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ के साथ मर्जर का यह समूचा  कार्य स्व-वित्तपिषित होगा और व्यय की स्थिति न्यूटरल रहेगी I अतिरिक्त वित्तीय प्रभावों का आकलन प्रत्येक पद के मामले में लागू महंगाई भत्ते सहित संशोधन पूर्व वेतनमान (5वे केन्द्रीय वेतन आयोग) के मध्य बिन्दु के अनुरूप फिटमेंट तालिका में दिए गए छठे केन्द्रीय वेतन आयोग के अनुसार ग्रेड पे सहित संशोधित मूल वेतन को ध्यान में रखकर किया जाए I वित्तीय फलितार्थों का आकलन करने के बाद इस कोटि से ही मैचिंग सेविंग की जाए I जहां कहीं इस कोटि से ऐसा करना संभव न हो, वहां  मैचिंग सेविंग की व्यवस्था मंडल/रेलवे स्तर पर विभाग से की जाए I समतुल्य वित्तीय मूल्य के पदों को सरेंडर करने समय वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों का जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ के साथ मर्जर तथा एस एस ई (रेलपथ) के पद के लिए इसके विस्तारित प्रभाव की लागत को संतुलित करने के प्रयोजन के लिए कट ऑफ तारीख को इस कोटि में उपलब्द मौजूदा रिक्त पदों पर भी विचार किया जाए I पदों के सरेंडर द्वारा मैचिंग सेविंग किये बिना एस एस ई (रेलपथ) के पद के लिए इसके विस्तारित प्रभाव के साथ वरिष्ट रेलपथ पर्यवेक्षकों का जूनियर इंजीनियर/ रेलपथ के साथ मर्जर नहीं किया जाएगा I

3. ये आदेश, इन आदेशों को जारी करने की तारीख से प्रभावी होंगे I

इसे इस मंत्रालय के सिविल इंजीनियरिंग एवं स्थापना निदेशालयों के परामर्श से और वित्त निदेशालय की सहमति से जारी किया जाता है I

कृपया पत्र की पावती दें I

 

                                                                                     (हरि कृष्ण)

निदेशक/वेतन आयोग-II

रेलवे बोर्ड

 

सं. पि सी-III/2012/एफ ई-II/2                                             नई दिल्ली, दिनांक 03-07-2013

प्रतिलिपि भरत के उप नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षा (रेलें) को (40 प्रतियों सहित) अग्रेषित I

कृते वित्त आयुक्त, रेलें

Circular in PDF
Circular in PDF : : 

Comments

Exam 01/2012

Sir i applied rrc en 01/2012 group d post, when the exam start

Deptt. Exam

Sir, I have given written exam of PWS on 07.06.13 & results was not declared due to merging of PWS with JE now what step will be taken by railway board

To protect against spam we limit the Comments only for the registerd users. Please register  or loginThank you for your understanding.

Custom Search